Amazon का ये cookies 24 घंटे तक एक्टिव रहेगा 24 घंटे में आप जब भी amazon से कुछ खरीदते है तो तब भी उस youtuber को commission मिलेगा Cookies एक छोटी सी फाइल होती है जो कुछ वेबसाइट के द्वारा आपके ब्राउजर में इनस्टॉल कर दी जाती है जब आप उस वेबसाइट पर विजिट करते हो cookies के मतद से आपके आने जाने के जानकारी को याद रख पाती है अब सवाल आता है की कौन-कौन से मेन Affiliate प्रोग्राम्स है

Network Marketing Kya Hai

डिजिटल मार्केटिंग क्या है ?इसके नुकसान और फायदे क्या है ? Digital Marketing Kya hai ?

Hello Friends अगर आप एक Blogging website, YouTuber या फिर किसी Organization को चलाते है या किसी Consumer Oriented Sector से जुड़े और अपना Business Online ले जाना चाहते है तो आपके लिए ये जानना बेहद आवश्यक है की आप अपने कारोबार या Website की Online Marketing कैसे करें । इसी Online Marketing टर्म को Digital marketing कहते है । आइये जानते है Digital Marketing क्या है ? इसके फायदे और नुकसान के बारे मे और कैसे करे इसकी शुरुआत ? और Digital Marketing से क्या पैसे भी कमाया जा सकते है ? इन सब सवालों को विस्तार से जानते है । Digital Marketing kya hai

Table of Contents

What Digital Marketing? Digital Marketing क्या है ?


जब किसी की Products या किसी Objects की Marketing Digital तरीके से की जाती है तो उसे उस Products की Digital Marketing करना कहा जाता है । दूसरे शब्दो मे यूं कहें की Digital Marketing वो Marketing है जिसे Computer ,Internet या फिर किसी Electronic Media द्वारा की जाती है इसे आप Online Marketing भी कह सकते है ।

अगर आप कम समय मे अधिक लोगों को अपने Services के बारे मे बता पाये तो Digital Marketing एक बेहतर तरीका है इसलिए किसी Products अथवा services की Digital Marketing बेहद जरूरी है । वर्तमान समय मे हर कोई किसी जानकारी के लिए Internet का उपयोग करता है अगर किसी को किसी Products जानकारी चाहिए तो वो किसी Shop या Showroom जाने से पहले उसकी जानकारी Online Search करता है और Search करते ही उसे वो सभी उपलब्ध जानकारी मिल जाती है जिसे वो जानना चाहता है इसलिए Internet मे आपके Products व Services की जानकारी होनी जरूरी है तभी ग्राहक सीधा आपसे जुड़ सकेगा । इसलिए Digital Marketing उतना ही आवश्यक है जितना की Marketing के दूसरे तरीके ।

कैसे करें इसकी शुरुआत ? (How to Start Digital Marketing?)

Digital Marketing के लिए आप Social media, Mobile Phones, Emails, Websites, Search Engine Optimization जैसे Tools का इस्त्माल कर सकते है जिसके जरिये आप अपने Products or Services को आसानी से लोगों तक पहुंचा सकते है । Digital Marketing नए ग्राहक तक पहुँचने का सबसे आसान और बेहतरीन तरीका है ।

शुरुआत करने के लिए आप ऊपर बताए गए किसी भी Tools का उपयोग करके उस Platform पर अपने Products या Services की Advertisement करा सकते है । इसके लिए आपको किसी Digital platform जैसे Google Ads ,Google My Business, Facebook Ads,Google Maps पर Registered करना होगा।

आप Amazon, Flipkart जैसे E-commerce Website द्वारा भी अपने Products को बेच सकते है ये भी Digital Marketing का ही एक हिस्सा है या फिर आप खुद E-commerce website बना कर उसे Online Published करा सकते है ।

Affiliate Marketing क्या है और कैसे शरू करे

Meaning of Affiliate in Hindi

ये आर्टिकल बहुत ही अच्छा होने वाला है आपके लिए क्युकी इस आर्टिकल में हम Affiliate Marketing बहुत डिटेल्स में कवर करने वाले है. और लास्ट में इस Affiliate Marketing का कोर्स मार्केटिंग में क्या होता है करने के लिए 3 फ्री udemy courses भी देखने वाले है तो आगे आप भी Affiliate Marketing से पैसे कमाना चाहते हो तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़े.

सबसे पहले हम जानते है Affiliate Marketing क्या होती है कैसे काम करता है.

Affiliate Marketing क्या है ( What is Affiliate Marketing in Hindi )

Meaning of Affiliate in Hindi का मतलब आप किसी का प्रोडक्ट बेचवाओगे और वो आपको इसके बदले में commission देता है आप किसी कंपनी के प्रोडक्ट को बेचने के लिए उसका link बनाते हो. और उस link को अपने blog, Youtube channel या किसी भी तरह से शेयर करके या प्रमोट करते हो ताकि आपके उस link से लोग खरीद सके और आपको commission मिल सके.

Affiliate Marketing kya hai aur kaise start kare

आपने Youtube channel पर किसी लेपटॉप या मोबाइल का प्रचार करते हुए देखा ही होगा तो जब आप उनके डिस्क्रिप्शन में जायेंगे तो आपको कुछ link मिलेगा उस प्रोडक्ट यानि जो भी प्रोडक्ट का प्रचार करते है. तो जब आप उस link पर click करोगे और आप उस प्रोडक्ट को खरीदते हो तो उस youtuber को commission मिलता है और सबसे अच्छी बात तो ये है की उस सभी में किसी पर भी आप click करोगे तो आपके ब्राउजर में एक cookies इनस्टॉल हो जायेगा.

नेटवर्क मार्केटिंग काम कैसे करता है?

नेटवर्क मार्केटिंग से वर्तमान समय में दुनिया भर के लगभग करोड़ों लोग जुड़ चुके हैं और सभी लोग मिलकर नेटवर्क मार्केटिंग जैसी अनदेखी इंडस्ट्री का एक निर्माण कर रहे हैं। इन सभी चीजों के अलावा बहुत से लोग ऐसे हैं, जो कि इस जानना चाहते हैं कि नेटवर्क मार्केटिंग का सिस्टम क्या होता है अर्थात नेटवर्क मार्केटिंग काम कैसे करता है।

हम उन सभी लोगों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करना चाहते हैं और उन्हें बताना चाहते हैं कि नेटवर्क मार्केटिंग एक ऐसी मार्केटिंग रणनीति है जो कि कंपनी के द्वारा अपने प्रोडक्ट खरीदने वाले व्यक्ति को अपनी कंपनी का एक सदस्य बना लिया जाता है और उस व्यक्ति को इस बात के लिए प्रेरित किया जाता है कि वह इस कंपनी के लिए और ग्राहक लेकर आए, जिससे कि उस व्यक्ति को कुछ कमीशन नहीं मिलेगा, यही सिस्टम नेटवर्क मार्केटिंग कहलाता है।

नेटवर्क मार्केटिंग कैसे शुरू करें?

यदि आप नए हैं और नेटवर्क मार्केटिंग शुरू करना चाहते हैं तो आपको शुरुआती समय में बहुत सारे दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। यदि आप एक बार नेटवर्क मार्केटिंग शुरू कर देते हैं तो आपको शुरुआत हो जाने के बाद से नेटवर्क मार्केटिंग के मार्केटिंग में क्या होता है क्षेत्र में इतनी आसानी हो जाएगी कि आप को ऐसा लगेगा कि नेटवर्क मार्केटिंग से आसान कोई काम ही नहीं है।

नेटवर्क मार्केटिंग के काम को शुरू करने के लिए आपको अपने काम का पूरी तरह से एडवर्टाइजमेंट करवाना चाहिए और इसके लिए आपको सबसे पहले अपनी एक वेबसाइट तैयार कर देनी चाहिए और अपनी कंपनी के द्वारा की गई हर एक्टिविटी को उस वेबसाइट पर रंग करना चाहिए। इन सभी के बाद आपको अपनी कंपनी का एडवर्टाइजमेंट अलग-अलग सोशल मीडिया अकाउंट पर भी करवाना चाहिए, जिससे आपकी पॉपुलैरिटी काफी ज्यादा बढ़ जाए।

नेटवर्क मार्केटिंग के लिए कंपनी का चुनाव कैसे करें?

यदि आप नेटवर्क मार्केटिंग शुरू करना चाहते हैं तो आपको बहुत सारी ऐसी फंड्स कंपनियां मिल जाएंगी, जिनका कोई भरोसा नहीं होता है, जो धोखे से लोगों को अपनी कंपनी के साथ जोड़ लेती हैं और उनके साथ फ्रॉड कर देती हैं। यदि आप नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी के साथ जुड़ना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले उस कंपनी के बारे में अच्छी तरह से जानकारी प्राप्त कर लेनी चाहिए।

यदि आप किसी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी के साथ जुड़ना चाहते हैं तो हमारे द्वारा नीचे बताए गए बातों पर अवश्य ध्यान दीजिएगा:

  1. किसी भी कंपनी को ज्वाइन करने के लिए उसके वेबसाइट और उसके हेड ऑफिस पर विजिट जरूर करना चाहिए।
  2. इस बात का अवश्य ध्यान रखना चाहिए कि वह कंपनी किसी ऐसे प्रोडक्ट को सेल कर रही हो, जो कि सबसे यूनिक हो।
  3. आपको उस कंपनी के बारे में यह जानकारी अवश्य निकालनी चाहिए कि नेटवर्क मार्केटिंग के फिल्में यह कंपनी कितने वर्षों से कार्यरत है।
  4. आपको उस कंपनी के मेन मालिक अर्थात कंपनी के ओनर के विषय में जानकारी प्राप्त करनी चाहिए।
  5. किसी भी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी को ज्वाइन करने के लिए आपको या ध्यान रखना चाहिए कि वह कंपनी जो प्रोडक्ट बेच रही है, उसके निर्माण के लिए उसके पास उचित फंडा है या नहीं।
  6. आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि इस प्रोडक्ट को बनाने वाली कंपनी के पास इंडियन गवर्नमेंट के द्वारा जारी किया गया लाइसेंस भी होना चाहिए।
  7. आपको कंपनी ज्वाइन करने से पहले इस बात का अवश्य ध्यान देना चाहिए कि उस कंपनी के विषय में आपको संपूर्ण जानकारी होनी चाहिए।

नेटवर्क मार्केटिंग के लाभ

यदि आप नेटवर्क मार्केटिंग शुरू करते हैं और आप सफल हो जाते हैं तो आपको बहुत ही ज्यादा फायदा मिलने वाला है। नेटवर्क मार्केटिंग आमतौर पर लोग पार्ट टाइम रूप से करना पसंद करते हैं। नेटवर्क मार्केटिंग के फायदों की लिस्ट नीचे में किस प्रकार से बनाई गई है:

  • नेटवर्क मार्केटिंग का उपयोग दुनिया भर के सभी लोग कर सकते हैं, चाहे वह किसी भी देश के हो या फिर उनकी उम्र, जाति या लिंग कोई सा भी हो।
  • आप सभी लोग नेटवर्क मार्केटिंग को पार्ट टाइम जॉब के रूप में भी शुरू कर सकते हैं और एक अच्छी खासी इनकम भी कर सकते हैं।
  • बहुत सी कंपनियां नेटवर्क मार्केटिंग के व्यवसाय में सफल होने के लिए नए विजिटर्स को प्रशिक्षण एवं शिक्षा प्रदान करते हैं, जो कि उनके प्रसिद्धि का मार्ग खोल देती हैं।
  • हम सभी लोगों को नेटवर्क मार्केटिंग के साथ जुड़ने के लिए किसी भी प्रकार की कोई औपचारिक शिक्षा डिग्री की आवश्यकता नहीं है।
  • आप सभी लोग नेटवर्क मार्केटिंग ज्वाइन करके पैसिव इनकम का स्रोत बना सकते हैं।

इनबाउंड और आउटबाउंड मार्केटिंग में क्या अंतर है ?

इनबाउंड और आउटबाउंड मार्केटिंग में क्या अंतर है ?

इनबाउंड मार्केटिंग को समझने के लिए आप एक चुम्बक का उदाहरण ले सकते है | जिस प्रकार से एक चुम्बक वस्तुओं को अपनी और आकर्षित करता है उसी प्रकार से इनबाउंड मार्केटिंग उन्ही उपभोक्ताओं को आपकी और आकर्षित करती है जो आपकी सेवाओं का लाभ उठाना चाहते है |

वेबसाइट और डिजिटल मार्केटिंग के सन्दर्भ इनबाउंड का अर्थ है हमारी अपनी वेबसाइट के लिंक जो की एक पेज से एंकर टैग के द्वारा मार्केटिंग में क्या होता है दिए गए हों |

आउटबाउंड : एक जगह से दूसरी जगह यार्ता करने वाला जो अपने गंतव्य पे जा रहा हो

आउटबाउंड अर्थ

आउटबाउंड मार्केटिंग क्या होता है ?

हम इस प्रकार की मार्केटिंग को समझने के लिए एक लाउडस्पीकर या एक हथोड़े का उदाहरण अपने दिमाग में रख सकते है | जो की इंटरप्ट करता है : अर्थात कोई व्यक्ति किसी और काम को कर रहा हो और हम उस बीच उस काम को रोक कर उसे और कुछ दिखाएँ |

उदाहरण : आप अपने बगीचे में बैठ कर अख़बार पढ़ रहे है और पास से की कोई लाउडस्पीकर पर कोई विज्ञापन बजाते हुए गुजरता है | आपका ध्यान सीधा उसी विज्ञापन पर जायेगा और अप अख़बार पढना कुछ समय के लिए रोक देंगे इसे कहते है इंटरप्ट मार्केटिंग या आउटबाउंड मार्केटिंग | टीवी पे आने वाला विज्ञापन, टेली कालिंग, पी.पी.सी, पॉप अप विज्ञापन, बैनर विज्ञापन, ईमेल मार्केटिंग, इत्यादि

यदि हमारा इनमे से किसी भी सेवाओं के विज्ञापन में रूचि है तो हम उन्हें संपर्क कर सकते है |

डिजिटल मार्केटिंग एवं परंपरागत मार्केटिंग के माध्यमों का प्रयोग करके सफल आउटबाउंड मार्केटिंग की जा सकती है

डिजिटल का अर्थ क्या है?

डिजिटल का अर्थ क्या है

इनबाउंड और आउटबाउंड मार्केटिंग दोनों ही डिजिटल मार्केटिंग में प्रयोग होते हैं यहाँ पे डिजिटल का अर्थ है इन्टरनेट नेटवर्क |

गूगल में इनबाउंड मार्केटिंग और और्बौन्द मार्केटिंग में लोगो की रूचि का आंकलन इस प्रकार है :

अफिलिएट मार्केटिंग काम कैसे करता है (How does Affiliate Marketing Work?)

जब आप किसी प्रोडक्ट को चुनते है अफिलिएट मार्केटिंग करने के लिए तो उसके साथ साथ आपको एक अफिलिएट लिंक या आईडी दी जाती है।

जिसके द्वारा यह गिना जाता है, कि आपने कितने प्रोडक्ट सेल की है। हर अफिलिएट मार्केटर की अफिलिएट आईडी या लिंक अलग-अलग होती है, वो एक प्रकार से उनकी पहचान होती है कि यह सेल उस व्यक्ति के द्वारा ही की गई है। इसी प्रकार अफिलिएट मार्केटिंग काम करता है।

अफिलिएट मार्केटिंग कैटेगरी (Affiliate Marketing Category)

अब आप सोच रहे होंगे की यह कैटेगरी क्या है? जब भी कोई अफिलिएट मार्केटर किसी अफिलिएट प्रोग्राम को चुनता है, तो वो सबसे पहले उस प्रोग्राम की कैटेगरी देखता हैं।

कैटेगरी का मतलब होता है, कि आपका प्रोडक्ट क्या है? आपका प्रोडक्ट किस चीज से सम्बंधित हैं। अगर आपको एक अच्छा अफिलिएट मार्केटर बनना है, तो आपको सबसे पहले एक अच्छा कैटेगरी ढूंढना होगा क्योंकि वही आपको इस फील्ड में सफलता का राज है।

अफिलिएट मार्केटिंग से पैसे कैसे कमाए (How to Earn Money from Affiliate Marketing?)

अब तक जो भी आपने पढ़ा तो आपको समझ आ गया होगा कि अफिलिएट मार्केटिंग काम कैसे करती हैं। अफिलिएट मार्केटिंग में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण चीज़ होता है आपका प्रोडक्ट अगर आप क्लाइंट के प्रोडक्ट को उसके कस्टमर तक मार्केटिंग में क्या होता है ले जाने में सफल हो गए तो आप बीच का कमीशन कमा लेंगे अन्यथा आपको दुबारा कोशिश करनी पड़ेगी और इसी प्रकार आप अफिलिएट मार्केटिंग में पैसे कमा सकते है।

F.A.Q.

1. क्या आप बिना किसी कंपनी को ज्वाइन किए अफिलिएट मार्केटिंग कर सकते है ?

हां जी आप बिना किसी कंपनी को ज्वाइन किए बिना भी अफिलिएट मार्केटिंग कर सकते है।

2. अफिलिएट मार्केटिंग में नीच क्या होता है?

अफिलिएट मार्केटिंग में नीच का मतलब होता है कि आपका प्रोडक्ट किस कैटेगरी से संबंधित है।

रेटिंग: 4.37
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 739